Please Wait...

जैमिनी नवांश दशा से भविष्यवाणी: Jaimini Navansh Dasha Se Bhavishyvani

गलत नवांश पर

इस दशा का उपयोग न करें

 

युवा शोधकर्ता सचिन मल्होत्रा का यह मौलिक शोध है। यह शोध मानवीय समस्याओं के प्रति ईमानदार और वैज्ञानिक दृष्टिकोण रखने वाले कई आधुनिक ज्योतिषियों की जरूरत को पूरा करेगा।

ज्योतिष महाविज्ञान है क्योकि एक ज्योतिष को सैकड़ों सवालों का सामना करना पड़ता है। इतने सवालों का सामना तो कभी किसी विज्ञान को नहीं करना पड़ा है।

 

और न ही शायद कभी करना पड़ेगा। एक ज्योतिष से पूछे जाने वाले प्रश्न आमतौर पर शिक्षा, रोजगार, विवाह, सन्तान, मृत्यु,बीमारी और सम्पत्ति से सम्बन्धित होते हैं। मैने सचिन से इन्हीं समस्याओं के सन्दर्भ में अपनी शोध को प्रमाणित करने के लिए कहा। पुस्तक के रूप में नतीजा आपके सामने है जिसमें छह विषयों पर चर्चा की गई है। पुस्तक के अन्त में तीन ज्योतिषीय रेखाचित्र के जरिये शोध का सार-संक्षेप भी दिया गया है।

 

जैमिनी राशि दशाओं की रानी चर दशा और पाराशरी नक्षत्र दशाओं के राजा विंशोत्तरी दशा का प्रयोग अवश्व करे। इसके बाद अपने जैमिनी निष्कर्षेां को काट-छांट कर कुंडली के हिसाब से पाराशरी विशिष्ट दशाओं और जैमिनी नवांश दशा से उन्हें सुनिश्चित करें। नवांश दशा के प्रयोग का तरीका इस किताब में दिया गया है।

 

याद रखें जब आप जैमिनी ज्योतिष कर रहे हैं तो सिर्फ सात कारकों का इस्तेमाल करें। यहां चर कारक परिवर्तन जैसी कोई व्यवस्था नहीं।

 

अपने तीस महीनों के ज्योतिष अध्ययन में सचिन ने विलक्षण शोध के जरिये वह कर दिखाया है जो पिछले 22 वर्षेां में भारतीर विद्या भवन से प्रशिक्षित बारह हजार से ज्यादा छात्रों में से कोई नहीं कर पाया। यह विश्व के सबसे बड़े और सबसे कामयाब ज्योतिष संस्थान में दिए जा रहे उच्च-स्तरीय प्रशिक्षण के लिए प्रशस्ति-तु्ल्य है।

 

नवांश दशा का प्रयोग कम से कम पन्द्रह तरीकों से किया जाता है। इस पुस्तक में पहली बारकिसी एक तरीके का प्रकाशन किया जा रहा है।

 

विषय

1

समर्पण

3

2

परिचय

5

3

सूत्र ऐसे मिला

12

4

नवांश दशा के स्थिर कारक

13

5

जैमिनी में शुभ- अशुभ ग्रह

14

6

नवांश दशा की गणना

15

7

दशा

16

उदाहरणसहित व्याख्या

8

शिक्षा

19

9

आजीविका

28

10

विवाह

35

11

सन्तान

43

12

अनिष्ट

49

13

रोग

65

ज्योतिषीय रेखाचित्र

14

जवाहरलाल नेहरू

71

15

इन्दिरा गांधी

76

16

राजीव गांधी

80

17

नवांश दशा ही क्यों?

34

18

जुड़वां भाईयों का विपरीत जीवन चरित्र

85

 

Add a review

Your email address will not be published *

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Post a Query

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES

Related Items