Please Wait...

मेरी प्रिय कहानियाँ: My Favourite Stories

पुस्तक के विषय में

हिन्दी के कथाकारों में आचार्य चतुरसेन का महत्वपूर्ण स्थान है। आचार्य जी ने मुगलकालीनतथा ब्रिटिश इतिहास का अध्ययन विशेष रूप से किया था। तत्कालीन राजघरानों से उनका निकट का संबंध रहा था इनको आधार बनाकर उन्होंने सैकड़ों कहानियाँ तथा अनेक उपन्यास लिखे जो आज भी सार्थक हैं । साथ ही, सामाजिक विषयों पर उत्कृष्ट कहानियाँ भी लिखीं प्रस्तुत संकलन की कहानियाँ उन्होंने स्वयं पसंद कीं और उन पर टिप्पणियाँ भी लिखी हैं।

 

क्रम

1

अम्बपालिका

7

2

दुखवा मैं कासे कहूँ मोरी सजनी

24

3

बावर्चिन

33

4

हल्दी घाटी में

43

5

नवाब ननकू

52

6

ककड़ी की कीमत

67

7

काहनी ख़त्म हो गई

73

8

जीवन्मृत

91

9

मुहब्बत

108

10

राजा साहब की कुतिया

121

Add a review

Your email address will not be published *

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Post a Query

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES

Related Items