Please Wait...

सत्संग मुक्ताहार: Necklace of Satsang Pearls

नम्र निवेदन

सत्संग प्रेमी सज्जनोंकी सेवामें यह सत्संग मुक्ताहार पुस्तक प्रस्तुत की जा रही हैइस पुस्तकमें श्रद्धेय श्रीस्वामीजी महाराजके नौ लेखोंका संग्रह हैपाठकोंसे प्रार्थना है कि वे इस

मुक्ताहार (मोतियोंकी माला) को हृदयमें धारण करें, हृदयमें करें और वास्तविक तत्त्वका अनुभव करके अपने मानव जीवनको सफल बनायें

 

विषय

1

वास्तविक तत्त्वका अनुभव

1

2

स्वतःप्राप्त परमात्मतत्त्व

9

3

साधकोपयोगी अमूल्य बातें

15

4

कामना और आवश्यकता

24

5

देनेके भावसे कल्याण

36

6

भक्तिकी अलौकिक विलक्षणता

43

7

भगवल्लीलाका तत्त्व

57

8

आकस्मिक और अकाल मृत्यु

61

9

शास्त्रीय विवादसे हानि

69

 

Add a review

Your email address will not be published *

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Post a Query

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES

Related Items