Please Wait...

ज्योतिष में भवन वाहन और कीर्ति योग: House, Vehicle, Fame in Jyotish



लेखक परिचय

डॉ. भोजराज द्धिवेदी की यशस्वी लेखनी से रचित ज्योतिष, वास्तुशास्त्र, हस्तरेखा, अंकविघा, रत्नविघा, आकृति विज्ञान, यंत्र-तंत्र-मंत्र विज्ञान, कर्मकांड व पौरोहित पर लगभग 400 पुस्तकें,3 ,000 से अधिक राष्ट्रीय महत्व की भविष्यवाणियाँ, पूर्व प्रकाशित होकर समय- चक्र के साथ-साथ चलकर सत्य प्रमाणित हो चुकी है जो ज्योतिष जगत् का एक गौरवपूर्ण किर्तिमान है| डॉ. द्धिवेदी द्धारा हजारों- लाखों भविष्यवाणियाँ लोगों के व्यक्तिगत जीवन हेतु की गई है जो चमत्कारिक रूप से सत्य से सत्य सिद्ध हुई है|

भूमि- भवन का क्रय या निर्माण आम आदमी के जीवन का सर्वाधिक महत्वपूर्ण पहलू है| वाहन भी आज के व्यस्त जीवन का एक अत्यधिक आवश्यक अंग बन गया है| मनुष्य का सारा धन, दौलत व ऐश्वर्य यश के सामने फीका पड़ जाता है| अगर जीवन में यश नहीं तो जीवन निस्सार हो जाता है| शास्त्रों में कहा है यश रूपी शारीर से जो जीवित है वे ही वास्तव में जीवित है| अपयश का जीवन तो मृत्यु से बढ़कर दारुण दुखदाई है| इस ईर्ष्यालु जगत में कोई बिरला भाग्यशाली व्यक्ति ही अपने विमल यश की कीर्ति-पताका-दिग्दिगंतर में फहरा सकता है| आपकी जन्मकुंडली में भू-भूमि-भवन-वाहन एवं कीर्ति का योग है या नहीं? है तो कितना विस्तृत है? उसकी सीमाएं क्या है? इन सभी तथ्यों का ज्योतिष योगों की दृष्टि से विवेचनात्मक विवेचन आप पहली बार इस पुस्तक के माध्यम से पढ पाएंगे |

 






Sample Pages








Add a review

Your email address will not be published *

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Post a Query

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES

Related Items