प्रतिनिधि कहानियाँ: Gyan Ranjan - Representative Stories
Look Inside

प्रतिनिधि कहानियाँ: Gyan Ranjan - Representative Stories

$12  $16   (25% off)
Quantity
Ships in 1-3 days
Item Code: NZF209
Author: ज्ञानरंजन (Jana Ranjan)
Publisher: Rajkamal Prakashan Pvt. Ltd.
Language: Hindi
Edition: 2011
ISBN: 9788171782413
Pages: 135
Cover: Paperback
Other Details: 7.0 inch X 5.0 inch
Weight 120 gm
पुस्तक परिचय

प्रगतिशील कथा-साहित्य में ज्ञानरंजन की कहानियों का महत्वपूर्ण स्थान है | इस संग्रह में उनकी प्रतिनिधि कहानियाँ शामिल है जो हमारे जीवन की अनेकानेक विरुपताओ का खुलासा करती है | इसके लिए ज्ञानरंजन अक्सर पारिवारिक कथा-फलक का चुनाव करते है, क्योकि परिवार ही सामाजिक सम्बन्धो की प्राथमिक इकाई है | इसके माध्यम से वे उन प्रभावों और विकृतियों को सामने लाते है जो बुजर्वा संस्कारो की देन है | इन्ही संस्कारोवश प्रेम जैसा मनोभाव भी हमारे समाज में या तो रहस्यमूलक है या भोगवाचक | ऐसी कहानियों में किशोर प्रेम-सम्बन्धो से लेकर उनकी प्रौढ़ परिणति तक के चित्र उकेरते हुए ज्ञानरंजन अपने समय की समूची स्थिति पर टिपण्णी करते है | मनुष्य के स्वातंत्र्य पर थोपा गया नैतिक जड़वाद या उसे अराजक बना देनेवाला आधुनिकतावाद-समाज के किए दोनों ही घातक और प्रतिगामी मूल्य है | वस्तुतः आर्थिक विडम्बनाओं से घिरा मध्यवर्ग सामान्य जन से न जुड़कर जिन बुराइयो और भटकावों का शिकार है, ये कहानियाँ उसका अविस्मरणीय साक्ष्य पेश करती है |

 

लेखक परिचय




Sample Page

Add a review
Have A Question

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES